Saturday, April 23, 2022

स्कूल चलो अभियान ग्राम तेनुघवट कम्पोजिट विद्यालय सकलडीहा चन्दौली

दिनाँक 22/04/2022 को कम्पोजिट विद्यालय तेनुवट, सकलडीहा, चन्दौली के छात्रों ने स्कूल चलो अभियान रैली निकाली।रैली गॉंव के विभिन्न गलियों से होते हुए पुनः विद्यालय पर समाप्त हुई।रैली का शुभारंभ ग्राम प्रधान श्री राकेश यादव व प्र0अ0 श्री फाफा साहब भारती ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।रैली में विद्यालय की अध्यापिकाओं में क्रमशः जरीना खातून,जमीला खातून, जानकी,विभा,मोनिका,ताहिरा, मीनू,सुमन,शेफ्ता, व समस्त रसोइयां थीं।रैली में बच्चे हाथों में तख्तियाँ लिए हुए व नारे लगाते हुए जा रहे थे।""शिक्षा ऐसी सीढ़ी है, जिससे चलती पीढ़ी है।"'
""मिड डे मील हम खायेंगे स्कूल पढ़ने जाएंगे।"'
""बच्चे मांगे प्यार दो,शिक्षा का अधिकार दो।""    जैसे नारे लगा रहे थे।

Wednesday, April 13, 2022

श्री श्री संत शिरोमणि गुरु रविदास मंदिर की स्थापना ग्राम प्रधान रीता देवी टिमिलपुर, जिला पंचायत सदस्य इंदु देवी इटवां

न्यूज़//चन्दौली//सकलडीहा// दिनांक 13 अप्रैल 2022 दिन बुधवार को प्रातः 9 बजे ग्राम सभा टिमिलपुर (सकलडीहा अंबेडकर नगर) जिला चंदौली में श्री श्री संत शिरोमणि गुरु रविदास मंदिर की स्थापना ग्राम प्रधान रीता देवी टिमिलपुर, जिला पंचायत सदस्य इंदु देवी इटवां एवं जिला पंचायत सदस्य राकेश कुमार माटीगांव द्वारा उद्घाटन कर किया गया यह मंदिर एडवोकेट अविनाश कुमार गौतम मुख्य संयोजक  डॉ अंबेडकर राष्ट्रीय अधिवक्ता संघ "भारत" हाईकोर्ट इलाहाबाद यूनिट द्वारा अपने पिता श्री सीताराम सक्सेना जी के नेतृत्व में स्थापित कराया गया इस अवसर पर ग्राम पंचायत टिमिलपुर एवं ग्राम पंचायत सकलडीहा सहित विभिन्न गांव से सम्मानित सामाजिक कार्यकर्ता एवं श्रद्धालुगण व भक्तगण उपस्थित रहे।

Saturday, April 9, 2022

बन्दरो के आतंक से सकलडीहा कस्बा आतंकित

सकलडीहा कस्बा इन दिनों बन्दरो के आतंक से आतंकित हैं बन्दरो की बढ़ती जनसंख्या ब आतंक इस कदर बढ़ गया है कि आय दिन फल व सब्जी विक्रेताओं का सामान बंदर छिन लेते और लोगों के कपड़े सूखने के लिए डाले गये फाड़ डालते हैं इसकी शिकायत वन विभाग से करने पर वन विभाग पिंजड़ा लगाता है लेकिन सफलता नहीं मिलती और कस्बा वासी बहुत परेशान हो चुके और प्राईवेट पकडने वाले लाखों रूपये मांग रहे हैं अब सकलडीहा कस्बा के लोग  आपसी सहयोग से इस समस्या का हल निकाल पायेंगे या विफल ही रहेंगे यह आपसी समनजस्य का विषय है  लेकिन सरकार शायद विफल है और सरकारी  तंत्र असफल

Sunday, April 3, 2022

गांव-गांव कर रही जागरूकता अभियान राज्य पेयजल एवं स्वच्छता‌ मिशन


स्वच्छ पेयजल की समस्या आज पूरे भारत में पैर पसार रही है और स्वच्छता की कमी लोगों के जनजीवन को गंभीर रोगों के हवाले कर रहे हैं इस गंभीर समस्या को देखते हुए राज्य स्तर पर चलाए जा रहे कार्यक्रम पेयजल एवं स्वच्छता मिशन को बढ़ाने एवं जन जन तक इसकी बात पहुंचाने के लिए मान चित्र व सोशल मैपिंग व नुक्कड़ नाटक के माध्यम से एनजीओ के तहत गांव गांव जागरूकता अभियान चलाएं जा रहे हैं इस क्रम में जन जागरूकता की टीम आज टिमिलपर सकलडीहा मैं पहुंची और लोगों को मानचित्र के माध्यम से गांव का परिदृश्य बनाकर के गांव में किस तरह से बाहर जाने वाले मल मूत्र घर तक कैसे आटोमेटिक पहुंच जाते हैं और हमें बीमारियों का शिकार हो जाते है यह बात भली-भांति इकट्ठी हुई भीड़ को समझाई गई इसमें पुरुष व महिला काफी संख्या में गांव के उपस्थित रहे मौके पर प्रधान प्रतिनिधि अशोक कुमार संघ पत्रकार प्रवीण श्रीवास्तव संघ बहुत सारे माननीय जनता गढ़ ग्राम वासी उपस्थित रहे इस टीम में मुख्य रूप से प्रशिक्षण कर्ता पंडित राकेश कुमार शर्मा जी मानचित्र के माध्यम से लोगों को समझाते हुए नजर आए उनकी टीम ने और उनके सहयोगियों ने प्रोजेक्टर के माध्यम से जल संरक्षण व स्वच्छता के प्रचार का भी माध्यम संचालित किया जिसको लोगों ने बहुत सराहा पंडित राकेश कुमार शर्मा के साथ कोडिमीटर मनोज यादव दीनानाथ यादव भी उपस्थित रहे। पंडित राकेश कुमार शर्मा ने बताया कि हम लोग मानचित्र सोशल मैपिंग व नुक्कड़ नाटक के जरिए सभी को स्वच्छता के पाठ को इन माध्यमों से जनता के बीच में जगरूप फैलाने का कार्य कर रहे हैं जिसमें जनता का सहयोग सराहनीय है अगर हर घर में शौचालय का उपयोग हो वह जागरूकता के जरिए जो निर्देश दिए जा रहे हैं उनका पालन हो तो अवश्य ही हमारा देश स्वच्छता के समीप व शुद्ध पेयजल के आपूर्ति को पूर्ण कर लेगा।

Wednesday, March 30, 2022

सम्पादकीय ---------- विकसित गांव व शहरों को नियंत्रित कॉलोनी व विकास प्राधिकरण की आवश्यकता

[16:21, 3/30/2022] HindustanNews24: यह बात अब समझने की है कि हमारी आबादी के अनुसार गांव में रहन-सहन की माग बढ़ रही है जिसके कारण गांव व शहरों की खूबसूरती में विकार आ रहा है आबादी के अनुसार नए नए मकानों की स्थापना वह नए-नए जगहों के अनुसार नई-नई उपलब्धियां बढ़ रही है लेकिन वह व्यवस्थित व सुंदरीकरण के और अग्रसारित नहीं है शहरों में तो लगभग बिना परमिशन के मकान बनाना संभव नहीं है लेकिन गांव और कस्बों में यह देखा जा रहा है कि लोग अनियंत्रित ढंग से घरों का निर्माण कर रहे हैं जिससे बाद में पानी निकासी व सड़क व गलियों की दूर्व्यवस्था सामने बहुत ही गंभीर समस्या के रूप में प्रकट हो रही है इसके लिए सरकार को अब एक निश्चित रूप से विदेशों के नीति को अथवा अपनी कोई नीति के अनुसार विशेष कालोनियों का निर्माण करना चाहिए ताकि सड़क जल निकासी का प्रबंधन नियमानुसार व व्यवस्थित करके अच्छी-अच्छी कालोनियों का विकास किया जा सके अनियंत्रित विकास के कारण लोगों को आने जाने के मार्ग में दिक्कत परेशानियां हो रही है वह आए दिन उनके बीच झगड़ों व अवस्था का दुष्प्रभाव देखने को मिलता रहता है अब यह कानून धीरे-धीरे शहरों से गांव में भी विकसित करने चाहिए कि लोग व्यवस्थित ढंग से निर्मित मकानों को ढंग से बनाए ताकि रास्तों का निर्माण व गलियों का निर्माण इतने बेहतर ढंग से हो और उन शहर और कस्बों और गांवों की सुंदरता बढ़ती जाए ताकि हमें कल अव्यस्थाओं का सामना ना करना पड़े इसलिए सरकार को अब इतने बड़े आबादी के साथ अपने व्यवस्थित प्रणाली को भी विकसित करना चाहिए यह नियम और कानून के साथ लोगों के बीच में प्रस्तुत करना चाहिए और लोगों को इसका पालन करने पर भी विचार करना चाहिए ताकि हमारा समाज बेहतर व संगठित सुंदर वह दिग्दर्शक के रूप में प्रस्तुत हो सके।

HindustanNews24: कौन देता है भारी वाहनों को चलने का परमिशन कैसे अवैध रूप से एंट्री कर जाते हैं भारी वाहन

[16:05, 3/30/2022]
अवगत कराना है कि इस वक्त सकलडीहा के उप जिलाधिकारी महोदय अजय कुमार मिश्रा जी धड़ल्ले से भारी वाहनों की धरपकड़ कर रहे हैं इस बात की उन्हें शिकायत भी मिलती रहती है और आईजीआरएस पर इसके कई मामले पड़े हुए हैं इस बाबत कुछ दिनों से उप जिलाधिकारी इन भारी वाहनों का धरपकड़ कर रहे हैं लेकिन ऐसा कार्य लगभग हर साल में एक दो बार कोई भी आला अधिकारी जरूर करता है लेकिन उसका रिजल्ट क्या है कि भारी वाहन इन थानों में कुछ दिनों के लिए बंद होती हैं और फिर रास्ते पर चल देती है आखिर इन भारी वाहनों का और अवैध रूप से नो एंट्री में घुसकर और मानक के अनुरूप सड़क ना होने के बावजूद इन पर चलाई जाती है आखिर जनता के जानमाल से ऐसा खिलवाड़ क्यों है और इनका यह खेल किसके इशारे पर चलता है और इसका परमिशन ही क्यों होता है परमिशन नहीं है तो यह अवैध रूप से नो एंट्री में घुस कैसे जाती हैं यह एक लोकतंत्र पर बड़ा सवाल है क्या यह अधिकारी अपने मन से इन्हें छोड़ते पकड़ते रहते हैं या जनता को बेवकूफ समझ रखा है अब तो इसका सवाल और जवाब जनता के बीच अधिकारियों को ही देना चाहिए खुलकर जनता की अदालत और जनता के बीच में इन बातों की चर्चा जरूर होनी चाहिए लेकिन यह लोकतंत्र कब आएगा और ऐसे सवालों का जवाब अधिकारी कब देंगे अब यह तो समय ही बताएगा।

Friday, March 25, 2022

रेलवे ट्रैक पार करते समय ओढ़ौली सकलडीहा के नवयुवक की मौत

कल दिनांक 25/03/2022 को लगभग 11बजे दिन की घटना बताई गयी ओडौली गांव के युवक की ट्रेन से कटकर मौके पर ही मौत हो गयी जिसकी पहचान  धर्मेन्द्र राय स्व रामा राय ग्राम ओडौली सकलडीहा के  रूप में की गयी।

अवैध खनन के खिलाफ सरकार सख्त फिर भी सकलडीहा क्षेत्र में हो रहे हैं अवैध खनन।

सरकार मे मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के आदेश पर अवैध खनन माफियाओं पर शिकंजा कसा जा रहा है हर तरफ धरपकड़ जारी है लेकिन सकलडीहा के ...