लेहरा मनिहरा वाहा उकनी में वाहा के ऊपर बने पुल की कुछ साल पहले शुरुआत, समाप्ति अधर में।

कुछ साल पहले लेहरा मनिहरा वाहा जो ऊकनी थरहरा वाहा जो दोदौली गांव को जोड़ता था कच्चे व थ्वस्त फुलिया को हटाकर नये पक्के के लिए किसानों ने कुछ वर्ष पहले आंदोलन किया था आंदोलन के बाद बंदी विभाग में उस पर पुल बनाने का निर्णय लिया फूल की शुरुआत तो हो चुकी है लेकिन पुल तैयार कब होगा इसका कोई भी पता नहीं है आला अधिकारियों का कहना है कि वाहा में पानी अधिक है इसके कारण पुल बाधित है बाहा मे पानी कम होते ही उन पर स्लैब पड़ जाएगा इधर किसान नेता मनमन सिंह ने जानकारी दी कि किसानों को आने जाने के लिए और गांव वालों को आने जाने के लिए काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है घूम कर 5 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है पुल की आवश्यकता बहुत ही जरूरी है और शीघ्र से शीघ्र पुल को तैयार होना चाहिए जिसके लिए किसानों ने धरना प्रदर्शन कर  अधिकारियों के संज्ञान में ला कर पुल बनाने पर बाधित किया लेकिन आज इनके हीला हवाली की वजह से लंबित पड़ा हुआ है जो एक समस्या का कारण बना है अगर यह शीघ्र तैयार नहीं होता है तो कच्चे पुल के टूट जाने से पानी में उतर कर लोगों को आना जाना पड़ता है और वाहन तो बिल्कुल ही आ जा नहीं सकते जिसकी वजह से अगर कोई बीमार हो जाए तो बहुत ही परेशानी गांव वालों को झेलनी पड़ती है।