बिजली चोरी में सहयोग कर रहे हैं बिजली कर्मचारी।

बिजली आज मानव जीवन में आम भूमिका निभाती है बिजली के बगैर हम विकास की कल्पना नहीं कर सकते लेकिन बिजली के अनाधिकृत प्रयोग से समाज को काफी समस्याएं आ रही हैं अगर बिजली को हम बचाकर और सही ढंग से इस्तेमाल करें और उसका भुगतान समय से वह सुनिश्चित कर ले तो हमारा देश और भी आगे जाएगा लेकिन विद्युत चोरी के मामलों में काफी बढ़ोतरी आती है और उसे सरकार को बहुत ही घाटा होता है लेकिन इसकी निगरानी के लिए बनाए गए बिजली विभाग के कर्मचारी हैं इस सिस्टम को बेकार करने में लगे हैं बिजली के प्रयोग में अनाधिकृत रूप से कई लोग इसकी चोरी कर अथवा बिना जानकारी के ही विद्युत लोड को बढ़ाकर समाज के सबसे बड़े विकास के कारक बिजली का गलत प्रयोग कर रहे हैं जिसके कारण बिजली की आपूर्ति हर घर में होना संभव नहीं हो पा रहा है बिजली हमें खरीदनी पड़ती है जिसके लिए भुगतान बहुत ही आवश्यक होता है लेकिन सरकार पर यह लोड बिजली विभाग के कर्मचारी द्वारा लापरवाही का ही प्रतीक महसूस हो रहा है बिजली विभाग के आला अधिकारी जांच कर बिजली के बकायेदारों का बिजली कनेक्शन काट देते हैं लेकिन कुछ पैसे खा कर बिजली कर्मचारी उनका बिजली कनेक्शन जोड़ देते हैं और लगातार इस तरह से बिजली चोरी होती रहती है कोई ऐसा तकनीकी सुविधा उपलब्ध नहीं हो पा रहा है जिससे बिजली के इस चोरी को रोका जा सके मानव द्वारा निगरानी ही अधिकांशत हो पाती है लेकिन वह भी कुछ लोगों के अपने व्यक्तिगत लाभ के कारण यह चोरी रुक नहीं पा रही है और लगातार बिजली विभाग को घाटे होते जा रहे हैं।