आवारा छुट्टा पशु किसानों की फसल को पहुंचा रहे हैं नुकसान

सकलडीहा। सकलडीहा गांव में किसानों की फसल अब तैयार होने पर हैं लेकिन किसान परेशान है आवारा पशुओं के कारण एक तरफ सरकार गौ हत्या पर रोक लगाई हुई है जिसके कारण जो लोग गाय पाले हुए हैं उनके यहां चारे की व्यवस्था ना होने कारण लोग अपने पशुओं को खुला छोड़ दे रहे हैं कुछ लोगों के यहां बच्चे पैदा होने कारण उनका कोई उपयोग ना होने से वह भी उन बछड़ों को रोड पर छोड़ दे रहे हैं यह पशु अपनी भूख मिटाने के लिए किसी के भी खेत में चले जा रहे हैं फसल को तो खा रहे हैं लेकिन उनके घुड़दौड़ से किसानों की फसलों को भी काफी नुकसान हो रहा है अभी चंद दिनों पहलेओलावृष्टि और बारिश से भी किसानों को क्षति हुई थी और अब यह पशु। किसानों ने सरकार से मांग की है की इन पशुओं की उचित व्यवस्था की जाए जबकि भारत सरकार उत्तर प्रकार ने पशुओं के लिए गौशाला का प्रबंध किया है और इसके लिए कर्मचारी भी नियुक्त किए गए हैं जो रोड पर घूमने वाले पशुओं को पकड़कर गौशाला में डालने काम करें। इन सब के बावजूद भी काफी मात्रा में आवारा पशु जहां देखो वहां पर रोड किनारे घूम रहे हैं कहीं-कहीं तो गौशाला में भी इतनी दैनि स्थिति बनी हुई है कि कुछ पशु चारे और पानी के अभाव में भी दम तोड़ रहे हैं अभी कुछ दिनों पहले प्रिंट मीडिया में इसके बारे में खबर भी छपा था जिस पर सीएमओ और अधिकारियों ने संज्ञान लेने की बात कही थी लेकिन आज तक नवीन आवारा पशुओं की व्यवस्था की गई ना ही इसके निदान किया व्यवस्था की गई है।